नजफगढ़ को जाममुक्त बनाने के लिए 4.8 किमी का एलिवेटेड कोरिडोर बनाएगी केजरीवाल सरकार

केजरीवाल सरकार नजफगढ़ को जाममुक्त करने के लिए बहुत जल्द वहां एक एलिवेटेड कोरिडोर का निर्माण करवाने जा रही है| बुधवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने नजफगढ़ से विधायक व दिल्ली सरकार में मंत्री कैलाश गहलोत व पीडब्ल्यूडी अधिकारीयों के साथ एक उच्चस्तरीय बैठक में इसके पहले फेज को मंजूरी दी| 4.8 किमी लम्बाई के इस एलिवेटेड कोरिडोर के बनने के बाद नजफगढ़ रोड पर लगने वाले ट्रैफिक में भारी कमी आएगी और लोगों को लम्बे ट्रैफिक जाम से नहीं जूझना पड़ेगा| एलिवेटेड कोरिडोर के निर्माण के बाद फिरनी रोड,कापसहेड़ा रोड,ढासा रोड, बहादुरगढ़ रोड व नांगलोई रोड पर चलने वाले वाहन इस एलिवेटेड रोड का इस्तेमाल कर सकेंगे उन्हें और उन्हें लम्बे ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगा|

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में दिल्ली सरकार शहर की सड़कों को ट्रैफिक जाम से मुक्त करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रही है। इस दिशा में नजफगढ़-फ़िरनी रोड जो दिल्ली और हरियाणा के बीच आने-जाने वाले लोगों के मुख्य मार्गों में से एक है और यहाँ पीक आवर्स के दौरान भारी जाम हो जाता है इसे जाममुक्त बनाने के लिए यहाँ एलिवेटेड कोरिडोर का निर्माण किया जायेगा| इस नए एलिवेटेड कॉरिडोर के पूरा हो जाने के बाद वाहनों को दिल्ली से हरियाणा- हरियाणा से दिल्ली आने जाने के लिए नजफगढ़ में प्रवेश नहीं करना पड़ेगा। वे एलिवेटेड कॉरिडोर का उपयोग कर और अपना समय बचा पाएंगे|

पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि वर्तमान में में हरियाणा से दिल्ली आने वाले वाहन व दिल्ली से हरियाणा जाने वाले वाहनों को नजफगढ़ के अंदर से आना होता है जिससे यहाँ मौजूदा सड़क पर वाहनों का काफी ज्यादा लोड होता है और लोगों को लम्बे ट्रैफिक का सामना करना पड़ता है| उन्होंने कहा कि लोगों को ट्रैफिक से निजात दिलाने के लिए दिल्ली सरकार यहाँ एलिवेटेड कोरिडोर का निर्माण करवाने जा रही है| इससे यहाँ यातायात सुगम होगा और यहाँ से रोजाना गुजरने वाले लाखों वाहनों को ट्रैफिक जाम से मुक्ति मिलेगी|

श्री सिसोदिया ने बताया कि 4.8 किमी लम्बाई के इस एलिवेटेड कोरिडोर के बनने के बाद नजफगढ़ रोड पर लगने वाले ट्रैफिक में भारी कमी आएगी और लोगों को लम्बे ट्रैफिक जाम से नहीं जूझना पड़ेगा| एलिवेटेड कोरिडोर के निर्माण के बाद फिरनी रोड,कापसहेड़ा रोड,ढासा रोड, बहादुरगढ़ रोड व नांगलोई रोड पर चलने वाले वाहन इस एलिवेटेड रोड का इस्तेमाल कर सकेंगे, और उन्हें लम्बे ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगा साथ ही नजफगढ़ रोड से वाहनों का लोड कम होगा|

एलिवेटेड रोड की विशेषताएं

-एलिवेटेड रोड की कुल लम्बाई 4.8 किमी होगी
-वन-वे कैरिजवे के साथ एलिवेटेड रोड पर जाने के लिए कुल 7 अप-डाउन रैंप होंगे
-रैंपस की कुल लम्बाई 1.68 किमी होगी
-फिरनी रोड,कापसहेड़ा रोड,ढासा रोड, बहादुरगढ़ रोड व नांगलोई रोड से नजफ़गढ़ की ओर आने वाले वाहन और दिल्ली तथा हरियाणा के बीच आवाजाही करने वाले वाहन बिना नजफगढ़ में जाए आवाजाही कर सकेंगे और उन्हें ट्रैफिक से निजात मिलेगा|
-एलिवेटेड रोड के बनने के बाद नजफगढ़, प्रेम नगर, न्यू गोपाल नगर, गोपाल नगर एक्सटेंशन, लोकेश पार्क सहित 200 से अधिक अन्य कॉलोनियों के लोगों को ट्रैफिक से राहत मिलेगी|

परियोजना के बारे में अधिक जानकारी देते हुए दिल्ली के परिवहन मंत्री और नजफगढ़ के विधायक श्री कैलाश गहलोत ने कहा, “यह परियोजना नजफगढ़ से बहादुरगढ़ या झज्जर या आसपास के राज्यों के अन्य हिस्सों में आने-जाने वाले सभी लोगों के लिए वरदान साबित होगी। रेडियल एलिवेटेड कॉरिडोर का यह 4.8 किमी एक और मील का पत्थर होगा जो नजफगढ़ शहर को कम करने में मदद करेगा। इसके अलावा, यह दिल्ली और हरियाणा के बीच यात्रियों के आने-जाने के समय को आधा करने में मदद करेगा। सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में, दिल्ली सरकार अपने नागरिकों के लिए शहर भर में अच्छी सड़क बुनियादी ढांचा प्रदान करने और उनके जीवन को और अधिक सुविधाजनक बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *