उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने महिलाओं और बच्चों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए जीटीबी अस्पताल के स्त्री रोग विभाग में नई कैजूअलिटी और आपातकालीन वार्ड का उद्घाटन किया

मनीष सूर्यवंशी ( वीर सूर्या टाइम्स )
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली के लोगों के लिए विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं सुनिश्चित करना दिल्ली सरकार की प्राथमिकता है।उसी के मद्देनजर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुतेग बहादुर अस्पताल में उन्नत ऑक्सीजन सुविधाओं के साथ एमसीएच (मातृत्व एवं बाल स्वास्थ्य) ब्लॉक में प्रसूति एवं स्त्री रोग विभाग में नए कैजुअल्टी-इमरजेंसी और लेबर रूम का उद्घाटन किया। ये नई सुविधाएं मरीज़ों को बेहतर सुविधाएँ देते हुए अस्पताल के मौजूदा लेबर रूम के भार को कम करेगा। ऑक्सीजन सुविधाओं के अपग्रेडेशन के साथ अस्पताल में अपनी ऑक्सीजन की मांग को कुशलतापूर्वक पूरा करने में सक्षम होगा। इस अवसर पर सीमापुरी के विधायक राजेंद्र पाल गौतम, कोंडली के विधायक कुलदीप कुमार व गोकलपुरी के विधायक सुरेंद्र कुमार भी मौजूद रहे।

जीटीबी अस्पताल में सुविधाओं का उद्घाटन करते हुए, श्री सिसोदिया ने कहा, “दिल्ली सरकार का स्वास्थ्य विभाग यह सुनिश्चित करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहा है कि दिल्ली के लोगों को दिल्ली सरकार के अस्पतालों में विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं मिले, जो कि दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी की प्राथमिकता है। दिल्ली के स्वास्थ्य मॉडल को दुनिया भर में सराहना मिली है, हमारे अस्पतालों को अपग्रेड करना हमारे स्वास्थ्य मॉडल को और अधिक कुशल और शानदार बनाना इसी दिशा में एक और प्रयास है।”

नई सुविधाओं के बारे में साझा करते हुए, उन्होंने कहा कि जीटीबी अस्पताल के एमसीएच ब्लॉक में प्रसूति एवं स्त्री रोग विभाग में नया कैजुअल्टी-इमरजेंसी एंड लेबर रूम सुनिश्चित करेगा कि गर्भवती महिलाओं, माताओं और बच्चों को त्वरित और गुणवत्तापूर्ण आपातकालीन उपचार मिले।

श्री सिसोदिया ने कहा कि जीटीबी अस्पताल में मेडिकल सुविधाओं में बढ़ौतरी होना हम सभी के लिए गर्व की बात है। ये अस्पताल न केवल दिल्ली बल्कि दिल्ली के आस-पास के कई गाँवों-क़स्बों-शहरों में रहने वाले लोगों को शानदार स्वास्थ्य सुविधाएँ मुहैया करवाता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के साथ-साथ ये अस्पताल आसपास के इलाक़ों के लोगों को ये आत्मविश्वास दिया है कि अगर उन्हें अपने आसपास इलाज नहीं मिला तो जीटीबी अस्पताल में अच्छा इलाज ज़रूर मिलेगा।

श्री सिसोदिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में हमारी कोशिश है कि हम दिल्ली में अधिक से अधिक मेडिकल सुविधाएँ विकसित कर सके। इसी दिशा में जीटीबी यहाँ 1912 बेड्स की क्षमता वाला अतिरिक्त ब्लॉक बनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कितने भी षड्यंत्र हो जाए केजरीवाल सरकार दिल्ली में शिक्षा-स्वास्थ्य व जनहित के कार्य कभी रुकने नहीं देगी। इन्होंने एमसीडी चुनाव जीतने के लिए डॉक्टरों की सैलरी रोक दी, मेडिकल स्टाफ की सैलरी रोक दी, सारे काम रुकवा दिए। लेकिन मैं जनता को ये विश्वास दिलाना चाहता हूँ कि चाहे जान चली जाए लेकिन अरविंद केजरीवाल जी जनता के काम रुकने नहीं देंगे।

बता दें कि जीटीबीएच के पुराने भवन में एक वार्ड में स्त्री रोग के 3 इमरजेंसी एरिया थे जिससे काफी भीड़ होती थी। एमसीएच ब्लॉक में ये नई सुविधाएं जीटीबी अस्पताल के प्रसूति एवं स्त्री रोग विभाग में लेबर रूम के भार को कम करने का काम करेगा।

जीटीबी अस्पताल में प्रसूति एवं स्त्री रोग विभाग में नया कैजुअल्टी-इमरजेंसी और लेबर रूम महिलाओं, माताओं और बच्चों के लिए गुणवत्तापूर्ण उपचार सुनिश्चित करेगा

जीटीबी अस्पताल में स्त्री रोग विभाग पर भार बहुत जो हर दिन बढ़ता जा रहा है। लेबर रूम में 150-200% बेड ऑक्यूपेंसी के साथ डिलीवरी रेट 20,000-22,000/प्रति वर्ष है और गाइनी कैजुअल्टी में प्रतिदिन औसतन 100-150 मरीज आते हैं। इस प्रकार एमसीएच में शिफ्ट होना समय की मांग है।
जीटीबी अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति की सुविधाएं बढ़ाई गईं, 1069 बिस्तरों के लिए अब सीधी मेडिकल ऑक्सीजन पाइपलाइन
वर्तमान में, जीटीबी अस्पताल में 1500 ऑपरेशनल बेड (फ्लोटिंग बेड सहित) हैं। अस्पताल में मेडिकल ऑक्सीजन की बढ़ती मांग को देखते हुए उपमुख्यमंत्री ने शनिवार को अस्पताल में ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए नई उन्नत सुविधाओं का उद्घाटन किया। इस सुविधा में 3000 एलपीएम की पीएसए क्षमता और 53 किलो लीटर की एलएमओ क्षमता है। यह नई सुविधा राज्य के उपयोग के लिए एलएमओ बफर टैंक 113 केएल की सुविधा भी प्रदान करेगी। अब उन्नत ऑक्सीजन सुविधाओं के साथ, अस्पताल में अब 1069 बिस्तरों के लिए सीधी चिकित्सा गैस पाइपलाइन है। पहले सिर्फ 750 बेड सीधे मेडिकल गैस पाइपलाइन से जुड़े थे। श्री सिसोदिया ने कहा, “कोविड जैसी स्थिति ने हमें हर स्थिति के लिए पहले से तैयारी करना सिखाया है। यह ऑक्सीजन प्लांट न केवल जीटीबी अस्पताल को सहायता प्रदान करेगा बल्कि अन्य कई अस्पतालों के लिए भी ऑक्सीजन का बफ़र रखेगा।
ज़ीटीबी हॉस्पिटल के कर्मचारी मौजूद रहे मेडिकल डायरेक्टर सुभाष गिरी , सिक्योरिटी इंचार्ज धनंजय ,

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *