दिल्ली पुलिस में एएसआई शहीद शंभु दयाल जी की उनकी शहादत व हिम्मत को पूरी दिल्ली और देश सलाम करते है- अरविंद केजरीवाल

मनीष सूर्यवंशी ( वीर सूर्या टाइम्स )
मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने आज साउथ-वेस्ट दिल्ली के मधु विहार में रहने वाले एएसआई स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा के घर जाकर उनके परिवार से मुलाकात कर सांत्वना दी और दिल्ली सरकार की ओर से एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा। मायापुरी थाने में तैनात एएसआई शंभु दयाल बीती 4 जनवरी को एक महिला की शिकायत पर मोबाइल छीनने के आरोपी को पकड़ने गए थे। आरोपी ने चाकू से हमला कर उनको गंभीर रूप से घायल कर दिया और अस्पताल में उनका निधन हो गया। इस दौरान सीएम श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एएसआई शहीद शंभु दयाल ने बड़ी बहादुरी से जनता की सेवा की। उनकी शहादत व हिम्मत को पूरी दिल्ली और देश सलाम करता है। आज के जमाने में ऐसे बहुत कम लोग हैं, जो अपनी जान दांव पर लगा कर समाज की सेवा करें। उनके परिवार से मिलकर एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा। हम भविष्य में भी उनके परिवार के साथ खड़े हैं। इस दौरान परिवहन मंत्री श्री कैलाश गहलोत और स्थानीय विधायक भावना गौर भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल आज सुबह साउथ वेस्ट दिल्ली के मधु विहार में रहने वाले दिल्ली पुलिस में एएसआई स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा के परिवार से मिलने उनके घर पहुंचे। सीएम अरविंद केजरीवाल ने स्वर्गीय शंभु दयाल के पिता मातादीन मीणा, पत्नी संजना और उनके तीनों बच्चों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीते 4 जनवरी को दिल्ली पुलिस के एएसआई शंभु दयाल मीणा जी अपने थाने में थे। उसी वक्त एक महिला आई। महिला ने शिकायत की कि किसी ने उनके पति का मोबाइल फोन छीन लिया है। एएसआई शंभु दयाल जी उस महिला के साथ घटना स्थल पर गए। मार्केट में उस महिला ने एक व्यक्ति की तरफ इशारा करते हुए दिखाया कि उस व्यक्ति ने उनके पति का मोबाइल छीना है। शंभु दयाल जी ने उस व्यक्ति को पकड़ लिया। उस व्यक्ति के पास चाकू था। उसने चाकू निकाल कर शंभु दयाल जी के उपर कातिलाना हमला किया। शंभु दयाल जी ने अपनी हिम्मत और साहस दिखाते हुए उस व्यक्ति को पुलिस बल के आने तक पकड़े रखा। उन्होंने बहुत ही बहादुरी और हिम्मत का परिचय दिया, लेकिन इस घटना में शंभु दयाल जी जान चली गई।

सीएम श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमें स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा जैसे पुलिसकर्मियों पर बहुत गर्व है। आज के जमाने में ऐसे पुलिस वाले बहुत कम मिलते हैं, जो अपनी जान दांव पर लगा कर समाज की सेवा करें। ऐसे बहुत कम लोग हैं। दिल्ली समेत पूरे देश को उनके उपर गर्व है। ऐसे लोगों की जान की कीमत नहीं लगाई जा सकती। मैं स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा के पूरे परिवार से मिला। उनके परिवार में उनकी पत्नी, उनके पिता और बेटा दीपक और दो बेटियों से मुलाकात की। हमने स्वर्गीय शंभु दयाल के परिवार को दिल्ली सरकार की तरफ से एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि दी है। मैं समझता हूं कि इससे उनके परिवार को थोड़ा सा सहारा मिलेगा। उनके परिवार को भविष्य में भी किसी तरह की जरूरत पड़ेगी, तो हम उनके साथ खड़े हैं। मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा जी की आत्मा को शांति दे।

मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली पुलिस एएसआई शहीद शंभु दयाल जी की बहादुरी पर पूरी दिल्ली और देश को गर्व है। माननीय मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल जी ने आज उनके परिवार से मिलकर एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि शंभु दयाल जी के परिवार का ध्यान रखना अब हमारी ज़िम्मेदारी है।

सीएम श्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस में एएसआई शहीद शंभु दयाल जी ने बड़ी बहादुरी से जनता की सेवा की, उनकी शहादत और हिम्मत को पूरी दिल्ली और देश सलाम करता है। आज उनके परिवार से मिलकर 1 करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा। हमें उम्मीद है कि इससे उनको थोड़ी मदद मिलेगी। भविष्य में भी हम परिवार के साथ खड़े हैं।

एएसआई स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा के बारे में-

स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा मूल रूप से राजस्थान के सीकर के रहने वाले थे। उनके पिता का नाम मातादीन मीणा है। उनकी उम्र 57 वर्ष थी। वह वर्ष 1993 में पुलिस सेवा में शामिल हुए थे और वर्तमान में वो दिल्ली पुलिस में बतौर सहायक उपनिरीक्षक (एएसआई) कार्यरत थे और उनकी तैनाती मायापुरी थाने में थी। गत 04 जनवरी 2023 को एक महिला मायापुरी थाने आई और उसने शिकायत की कि एक व्यक्ति ने उसके पति का मोबाइल फोन छीन लिया है और वो उन्हें धमकी दे रहा है। चूंकि उस दिन थाने के बाकी पुलिसकर्मी अन्य पीसीआर कॉल पर व्यस्त थे। इसलिए एएसआई शंभु दयाल मीणा अकेले ही शिकायतकर्ता के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। उन्होंने आरोपी पर काबू पाने की कोशिश की, लेकिन आरोपी ने चाकू निकाल लिया और उनके उपर कई बार हमला किया। खाली हाथ होने के बावजूद शंभु दयाल मीणा ने अत्यधिक साहस का परिचय देते हुए अपराधी को दबोच लिया और पुलिस थाने से पुलिस बल के पहुंचने तक अपराधी को भागने नहीं दिया।

गंभीर रूप से घायल एएसआई शंभु दयाल मीणा को इलाज के लिए दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया गया और बाद में बीएल कपूर अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया। डॉक्टरों ने अपने स्तर पर उन्हें बचाने के पूरे प्रयास किए। डॉक्टरों के सारे प्रयासों के बावजूद 8 जनवरी 2023 को शंभु दयाल मीणा का निधन हो गया। स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा के परिवार में उनकी पत्नी संजना और तीन बच्चे गायत्री (25), दीपक (23) और प्रियंका (21) हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने बतौर सम्मान राशि स्वर्गीय शंभु दयाल मीणा की पत्नी श्रीमती संजना को 60 लाख रुपए और उनके पिता मातादीन मीणा को 40 लाख (कुल एक करोड़ रुपए) का चेक सौंपा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *