खटीक समाज के सम्मेलन में अखिलेश यादव ने कहाँ बीजेपी इंसान ही नही, पशुओं से भी डरती है

मनीष सूर्यवंशी (वीर सूर्या टाइम्स )
राष्ट्रवादी खटिक विकास समिति के रजत जयंती समारोह 28 मार्च को लाजपत भवन, मोतीझील, कानपुर में खटीक समाज का महा सम्मेलन किया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री एस एन चक, रि. डीजी ने की
वर्तमान स्थिति में खटीको की भूमिका पर समाज के पुरयौधाओ ने अपने अपने विचार रखें
चर्चा प्रारम्भ करते हुए फेडरेशन के अध्यक्ष श्री नेतराम ठगेला, रि. निदेशक, रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार ने आर्यों से लेकर मोदी सरकार के शोषण पर प्रकाश डाला अन्य वक्ताओं ने भी अन्य विषय पर मंथन किया
वही डा. रागिनी सोनकर, विधायक, मछली शहर ने कहा हमे शिक्षा लेंने के साथ अपने साथ वालों को भी दिलानी चाहिए बाबा साहेब के दिये समानता का अधिकार को दिलाने के लिए नेताजी मुलायम सिंह यादव जी ने दबे, कुचले पिछड़े लिए हमेशा काम किया
परिषद के अध्यक्ष श्री चक ने संविधान पालन का संकल्प पढ़ते हुए कहा खटीक समाज किसी पार्टी का गुलाम है, इस धारणा को दूर करें और शपथ ले कि अब हमे गुलाम नहीं शासक बनना है दरिया में यु तो हजारों कतरे होते हैं आज कतरो से दरिया बनाना है, भोले पक्षी मीठी बातों से भटक नहीं जाना उन्होंने कहा, दो चार कदम साथ चलने को साथ नहीं कहते और न ही इससे इतिहास बदलता है,
अखिलेश व शिवपाल यादव साथ होते हैं तो होते ही हैं, पीछे नहीं हटते उन्होंने खटीक समाज को झिड़की देते हुए कहा, अगर आज देश के जो हालात पर शर्मिंदा नहीं है, इसका मतलब है आप जिंदा नहीं है
विकास पुरुष श्री शिवपाल सिंह यादव पूर्व मंत्री ने कहा हम सभी ने संविधान बचाने का संकल्प लिया है, समय की नजाकत के अनुसार शपथ लेने व दिलाने के लिए खटीक समाज का आभार व्यक्त करते हुए कहा, सीरियस प्रयासों से संविधान बचेगा उन्होंने आगे कहा 2012 से पहले जैसे एक हुए थे, आज भी एक हो जाने से हमारा संतुलित विकास ही नहीं होगा बल्कि संविधान भी बचेगा
मुख्य अतिथि श्री अखिलेश यादव, पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष सुन्दर कार्यक्रम करने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा जैसे नेताजी को समर्थन दिया वैसा ही खटीक समाज से आज मैं भी चाहता हूं संविधान खत्म होने की चर्चा पर हिटलर के समय के एक कवि का उदाहरण देते हुए‌ कहा –
मैं नहीं बोला क्योंकि हिटलर ने कम्युनिस्टो का नाश करने का कहा था, मेरा नहीं और मैं कम्युनिस्ट नहीं था
जब उसने ट्रैंड युनियन के खिलाफ कार्रवाई की, मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मैं ट्रेड यूनियनिस्ट नहीं था
उसने यहुदियों को पीटा, मैं नहीं बोला, क्योंकि मैं यहुदी नहीं था जब मुझे नष्ट किया तो मैं नहीं बच नहीं सका, क्योंकि मेरे पीछे कोई नहीं था
वे आगे बोले, झूठ बोलने में बीजेपी का मुकाबला कोई नहीं है कुछ भी भ्रम फैला सकती है, देश लूट रहे अपराधियों को नही पकड़ती बल्कि पिछडी जाति होने के नाम पर नफरत फैलाती है मुख्यमंत्री योगी ने कहा हमारे शासन में 46 पद थे उनमें 56 यादव नियुक्त किए गए यहां बुद्धिजीवी हैं सोचो बीजेपी के नेता अनपढ़ होने के साथ झूठे भी है यह सब बिजली, दालों, सरसों का तेल पर महंगाई बढ़ी है उससे ध्यान बंटाने के लिए जाति और धर्म के नाम पर नफ़रत फैलाती है मोदी ने सत्ता में आने के लिए आय दुगुनी, हरेक के खातों में 15 लाख के वायदे किए क्या किसी की आय दुगनी हुई, 15 लाख आया एल आई सी, बैंकों, पेंशन में पैसा किसका लगा है, डूब रहा है तो हमारा पैसा बेईमानी खुद करतें है या कराते हैं, जो उसके खिलाफ आवाज उठाता है उसे दबाती है पहले आज़म खां और अब राहुल की सांसदी छीनी है आज आपने बच्चों को सम्मानित किया है एक माता ने कहा आज समाजवादी सरकार होती तो लेपटोप देती, सरकार हमारी नही है मगर जिन चार बच्चों को सम्मानित किया है उन्हें समाजवादी लैपटाप देंगे, सरकार आयेगी तो पहले की तरह सबको देंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *