सांसद डॉ भोला सिंह सूर्यवंशी के नेतृत्व में खटीक समाज कर्नाटक प्रदेश संगठन का सम्मेलन सम्पन्न

मनीष सूर्यवंशी (वीर सूर्या टाइम्स )
नई दिल्ही अखिल भारतीय खटीक समाज
द्वारा कर्नाटक प्रदेश संगठन का सम्मेलन 30 मार्च, को रामनवमी के दिन सांसद एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.भोला सिंह सूर्यवंशी की गरिमामय उपस्थिति में पूरे हर्ष और उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ।
इस सम्मेलन में राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री सिप्पी महेन्द्रा, राष्ट्रीय महासचिव (प्रशासन) श्री नानक चंद राजोरा, राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) श्री मनी राम पंवार के नेतृत्व में कर्नाटक प्रदेश संगठन के प्रदेशाध्यक्ष श्री अशोक कल्याणकारी तथा राष्ट्रीय महासचिव और कर्नाटक के प्रभारी श्री साईं कुमार सर्वप्रथम राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद डॉ. भोला सिंह सूर्यवंशी और राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री सिप्पी महेन्द्रा का कर्नाटक की परंपरागत शैली में स्वागत सत्कार किया और संगठन विस्तार और सामाजिक मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई। राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री सिप्पी महेन्द्रा ने कर्नाटक से आये सभी पदाधिकारियों का राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. भोला सिंह सूर्यवंशी से परिचय करवाया।
कर्नाटक के प्रदेशाध्यक्ष श्री अशोक कल्याणकारी नेतृत्व में आए सभी समाज बन्धुओं ने कर्नाटक प्रदेश में खटीक जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करवाने के लिए राज्य सरकार और केन्द्र सरकार पर दबाव बनाए जाने की मांग रखी। कर्नाटक से आए सभी प्रतिनिधियोंनके बताए अनुसार राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री सिप्पी महेन्द्रा ने राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. भोला सिंह को बताया कि 1975 की इवानूर समिति की रिपोर्ट और 1992 की डी के नायकर समिति की रिपोर्ट में खटीक जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करने की सिफारिश की गई थी। 2012 में कर्नाटक की राज्य सरकार ने बजट पास करके डॉ. बी आर अम्बेडकर अनुसन्धान संस्थान के माध्यम से कुवेम्पू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर गुरुलिंगप्पा समिति का गठन कर वंशावली अध्ययन कर अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार को दी थी। इस समिति ने समग्र रूप से खटीक समाज को अनुसूचित जाति में शामिल करने।की सिफारिश की है, लेकिन राज्य सरकार में खटीक समाज का प्रतिनिधित्व नहीं होने के कारण उस रिपोर्ट पर ध्यान नहीं दिया गया।
डॉ. भोला सिंह ने आए हुए प्रतिनिधियों को विश्वास दिलाया कि अभी तो कर्नाटक विधान सभा के चुनावों की घोषणा हो चुकी है। चुनावों के बाद सरकार गठन हो जाने के बाद मैं स्वयं कर्नाटक आकर वहां मुख्यमंत्री से व्यक्तिगत रूप से मिलकर आपकी भावनाएं पहुंचाऊंगा और राज्य सरकार पर दबाव बनाकर कर्नाटक में खटीक जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करने वाली रिपोर्ट लागू करवाएंगे।
श्री मनमोहन एम्. कल्याणकारी, श्री राजू कामले, श्री नरेश एस नागरकर, श्री विजय कुमार गणेश, श्री शिव कुमार एस. सागर, श्री प्रकाश नागरकर, श्री मधुकार धरम कामले, श्री जवाहर कल्याणकारी, श्री संदीप निज़ामकारी, श्री कमलोजी निज़ामकारी, श्री जयंत कामलेकर, श्री महेश चौधरी, श्री साईं कुमार, श्री जयराज बीवर, श्री अशोक किरमाकर, श्री हनुमंत राव तुमकुर, श्री श्रीनिवास बेरालूर, श्री वेंकटेश्वर राव, श्री मंजूनाथ राव, श्री वेंकट जी राव, श्री ज्योतिमरा खड़गे, श्री देवराज कोपल, श्री के.आर. वेंकटेश राव आदि अनेक समाजबंधु इस सम्मेलन में शामिल हुए ।
भोला सिंह बडगूजर ने माता शेरावाली का प्रसाद स्वरूप हलुआ-पूड़ी, छोला-पूड़ी व अन्य मिष्ठान परोसे। सम्मेलन के अंत में राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. भोला सिंह सूर्यवंशी ने आगन्तुक सभी समाज बन्धुओं को धन्यवाद किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *