इंडिया इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल में संस्था द्वारा औषधीयओ के प्रति जागरूक किया गया

अंकित गर्ग ( वीर सूर्या टाइम्स )
उत्तर पूर्वी दिल्ली के शिव विहार मैं स्वराज विकास फाउंडेशन द्वारा औषधीय पौधों के प्रति विद्यालय में जा जा कर सभी छात्र- छात्राओं को जागरूक कराने का कार्य किया जा रहा हैं
इसी कड़ी में गोकलपुर विधान सभा में स्थित इंडिया इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल जोहरीपुर दिल्ली में छात्रों ने औषधीय पौधों की पहचान के बारे में इच्छा जताई। स्वराज विकास फाउंडेशन से औषधीय पौधों की पहचान के बारे में अवगत कराया जा रहा हैं
स्वराज विकास फाउंडेशन ने स्कूल में जाकर एलोवेरा किस तरह होता है इसकी जानकारी प्रदान की तुलसी का प्लांट कैसा होता है आपस में एक दूसरे को जानकारी दी गई ब्राह्मी आंवला करंज सफेद मूसली जैसे अनेक औषधि पौधे जानकर छात्रों में एक खुशी की लहर नजर आई
स्कूल की प्रधानाचार्य मोनिका धामा ने बताया कि पहले अंग्रेजी दवाइयां कहां होती थी केवल इलाज इन देसी दवाइयां थी जो आज औषधीय दवाओं या आयुर्वेदिक दवाओं होम्योपैथिक दवाओं से जाना जाता है धामा ने कई औषधीय पौधों की विशेषताएं भी बताई ।
स्वराज विकास फाउंडेशन के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह ने बताया के भारत सरकार के आयुष मंत्रालय कि इस परियोजना से हजारों परिवारों को लाभ प्राप्त होगा औषधीय पौधों के बारे में अनेक लोग जानते हैं परंतु उनके विशेषताओं गुणों के बारे में सभी को जानकारी नहीं होती इसकी जानकारी अभियान चला कर दी जाएगी। आयुर्वेदिक स्वास्थ्य पद्धति प्राचीन स्वास्थ्य पद्धति है रामायण महाभारत पुराण इत्यादि ग्रंथों में इनका उल्लेख है। आयुष मंत्रालय आयुर्वेद को बढ़ावा देते हुए निरोगी काया निरोगी भारत की कल्पना करता है। इस जागरूकता अभियान में स्वराज विकास फाउंडेशन के सचिव पवन कुमार, कार्यकर्ता हिमांशु ,इंडिया इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक राजीव कुमार जयंत, रश्मि यादव,पूनम शर्मा,गुंजन शर्मा,रीना हिमांशी,श्रीवास्तव आदि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *