उत्तरी बाईपास पर कट की मांग, धरने का 21वे दिन अकोस के ग्रामीणों ने प्रतीकात्मक अर्थी निकाल जताया आक्रोश

अंकित गर्ग( वीर सूर्या टाइम्स )
बलदेव। उत्तरी बाईपास पर कट की मांग को लेकर धरने के 21वे दिन अकोस के ग्रामीणों ने प्रशासन द्वारा सुध न लेने से प्रतीकात्मक अर्थी निकाल आक्रोश जताया। प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों का कहना था कि वह लोग अपनी समस्याओं व कट की मांग को लेकर विगत 21 दिन से शांति पूर्ण तरीके से धरना दे रहे हैं। लेकिन अभी तक जिले का कोई जिम्मेदार आला अफसर उनके बीच बात तक पूछने नहीं आया है। जबकि यहां के किसानों ने बेशकीमती उपजाऊ जमीन हँसते हँसते रोड बनाने के लिये दे दी। लेकिन सरकार उन्ही ग्रामीणों को उस पर चलने से रोक रही है। तमाम किसानों जमींन दो भागों में बंट गयी है। किसानों को अपने खेत पर एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए अंडर पास से होकर के गुजारना पड़ेगा, सिंचाई भी प्रभावित होगी। आगरा उत्तरी बाईपास’ पर अकोस में चढ़ाव-ऊतार को ‘ कट’ व चकमार्गों पर बनाई जाने बाली पुलियाओं(अंडरपास) की ऊंचाई बढ़ाने बनाये जाने की मांग कर रहे हैं। शासन सरकार उनकी सुनवाई नहीं कर रहे।
भारतीय किसान यूनियन टिकैत के तहसील अध्यक्ष सोवरन सिंह, सूरजा ठेकेदार तमाम ग्रामीणों का साफ कहना है कि उनके खेतों से होकर निकल रहे ‘आगरा उत्तरी बाईपास’ पर अकोस में चढ़ाव-ऊतार को ‘ कट’ व चकमार्गों पर बनाई जाने बाली पुलियाओं (अंडरपास) की ऊंचाई बढ़ाने बनाये जाने की मांग है शासन उसे पूरा कराये । जब तक उनकी मांग पूरी नहीं हो जाती तब तक उनका आंदोलन बरकरार चलता रहेगा। बलदेव के किसानों की जमीन भी गयी रोड पर उतरने चढ़ने को कट नहीं मिल रहा ह क्षेत्रीय जनता छल को स्वीकार नहीं करेगी। किसान शान्तिंपूर्ण तरीके से पिछले 21 दिन से धरना दे अपनी मांग रख रहे हैं,। जिलाधिकारी महोदय को एवं रोड का निर्माण करा रहे एनएचएआई के अधिकारियों ने आकर किसानों की मांग पर सकारात्मक पहल करनी चाहिए।
इस दौरान धरने में बीलो मुखिया, पूर्व जिला पंचायत सदस्य रतन सिंह,कर्मबीर सिंह छौंकर, मानसिंह बुर्ज, चरण सिंह, कारेलाल महाशय, राजवीर, हरवीर सिंह, बच्चू सिंह, द्वारका पटवारी, सूरजा ठेकेदार, रामवीर, योगेंद्र अस्थाना, बहोरन, रमेश, सतेंदर सिंह, गिर्राज सिंह, राधेश्याम, हीरालाल, राजन सिंह, कृपाल सिंह, रन सिंह बुर्ज ,लक्ष्मण सिंह, हरदम सिंह, श्रीपत काका, राम सनेही, रमेश, लीलाधर, अमर सिंह, राजेंद्र सिंह,चन्दन आदि बड़ी संख्या में ग्रामीण शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *