सूर्यवंशी अखाड़ा परिषद् अंतरराष्ट्रीय संस्थान द्वारा श्री वेदमूर्तिनंद सरस्वती जी को मिली महामण्डलेश्वर की उपाधि.

मनीष सूर्यवंशी (वीर सूर्या टाइम्स )
उत्तर पूर्वी दिल्ली दिलशाद गार्डन के काली बावड़ी मंदिर परिसर में सनातन वैदिक धर्म गुरु पंडित वेद मूर्ति शास्त्री जी महाराज को सूर्यवंशी अखाड़ा परिषद् अंतरराष्ट्रीय संस्थान द्वारा श्री श्री 1008 महामण्डलेश्वर की उपाधि से सम्मानित किया गया अब से आध्यात्मिक नाम से जाने जाएंगे जो गुरूओं द्वारा दिया गया बगलामुखी पीठाधीश्वर अनंत विभूषित श्रोत्रिय ब्रम्हनिष्ठ श्रीश्री 1008 स्वामी श्री वेदमूर्तिनंद सरस्वती जी महाराज के नाम से जानें जाएंगे अब महाराज जी सम्पूर्ण जीवन सनातन उत्थान के लिए समर्पित रहेगा समाज में भाषा वाद प्रांत वाद जातिवाद आदि कुरीतियों को खत्म करने के लिए आप भिक्षा यात्रा पे पुरे देश में जाएंगे आपका शुभ संकल्प सनातन बोर्ड का गंठन करवाना है जिससे भारत एक दिन विश्व गुरु पद पर प्रतिष्ठित हो सके कार्यक्रम में सामिल होने के देश विदेश आए संत महात्मा महंत महामंडलेश्वर लोग शिरकत किए पुरे विधि विधान से संन्यास दीक्षा संतों दिलाई दश विध स्नान दुग्धाभिषेक पंचगव्य प्रसान समस्त देवी देवता आह्वान पूजन पंचभूत महायज्ञ त्रिपति बाला जी से पधारे वेदपाठी, घनपाठी ब्राम्हणों द्वारा किया गया जिसमें समाज के कई प्रबुद्ध लोग भी सामिल हुए । आयुर्वेद धर्मगुरु ने सनातन धर्म को आगे बढ़ाने एवं सनातन धर्म का संतुलन बनाए रखने का आशीर्वाद दिया और विश्वास जताया है कि श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर श्रीश्री 1008 स्वामी श्री वेदमूर्तिनंद सरस्वती जी महाराज अपना दायित्व अच्छे से निर्वाह करेंगे और सनातन धर्म को आगे बढ़ाने का काम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *