मानसून की पहली तेज बारिश में खुली दिल्ली सरकार और एमसीडी की पोल

मनीष सूर्यवंशी ( वीर सूर्या टाइम्स )
उत्तरी पूर्वी दिल्ली मे मानसून की पहली जोरदार बारिश ने केजरीवाल शासित पीडब्ल्यूडी और एमसीडी के दावों की धज्जियां उड़ा दी पीडब्ल्यूडी और एमसीडी ने बारिश से पूर्व मानसून के दौरान जलभराव न होने देने के बड़े-बड़े दावे किए थे परंतु मानसून की पहली तेज बारिश में ही यमुनापार तथा रोहतास नगर विधानसभा की सभी मुख्य सड़कों के साथ साथ कई घरों में वर्षा का पानी कई कई फुट भर गया
रोहतास नगर के विधायक जितेंद्र महाजन तथा पार्षद चंद्रप्रकाश शर्मा, रितेश सूजी ने बारिश के दौरान विधानसभा की विभिन्न इलाकों का दौरा किया दौरे के दौरान मंडोली रोड एल आई जी फ्लैट, लोनी रोड,नवीन शाहदरा, रामनगर, बाबरपुर रोड पर कई-कई फुट पानी भरा हुआ मिला पीडब्ल्यूडी पंपों पर कई पंप खराब पड़े थे, तो कहीं बिजली नहीं होने के कारण जनरेटर काम नहीं कर रहे थे क्योंकि जनरेटर में बैटरी नहीं थी कहीं कई जगहों पर नालो की सफाई शुरू भी नहीं हुई थी या सफाई ठीक प्रकार से नहीं हुई थी | सड़कों तथा घरों पर जलभराव के कारण लोगों को अत्याधिक कठिनाई का सामना करना पड़ा तथा घरों में पड़ा सामान भी पानी में डूब गया |
विधायक जितेंद्र महाजन के अनुसार दिल्ली सरकार पहले अपनी नाकामी का ठीकरा दिल्ली नगर निगम के ऊपर मैं थोपा करती थी, परंतु अब दिल्ली के लोगों को समझ आ गया है कि केजरीवाल शासित पीडब्ल्यूडी और एमसीडी दोनों विभाग नालों की सफाई में भ्रष्टाचार में लिप्त है, जिसका खामियाजा दिल्ली के लोगों को भुगतना पड़ रहा है
विधायक जितेंद्र महाजन ने दिल्ली के उपराज्यपाल से मांग की कि नालों की सफाई कराने के नाम पर जो भ्रष्टाचार हुआ इसकी जांच करवाई जाए तथा दोषी अधिकारियों और ठेकेदारों के खिलाफ कार्यवाही की जाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *